Why is it important for players to be fit?
फिटनेस - Fitness

प्लेयर्स फिटनेस : प्लेयर्स को फिट रहने की आवश्यकता क्यों होती है

किसी भी खेल को खेलने वाले प्लेयर्स के लिए प्लेयर्स फिटनेस एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी होती है, इसके द्वारा वह अपने खेल को एक उच्चतम सीमा पर ले जा सकता है। प्लेयर्स फिटनेस को समझने के लिए हम टेनिस और फिटनेस की केस स्टडी पर चर्चा करेंगे।

टेनिस प्रशिक्षण और फिटनेस हर स्तर पर जुड़े हुए हैं और एक अच्छे टेनिस खिलाड़ी बनने के लिए इसे अलग नहीं किया जा सकता है। टेनिस प्रशिक्षण से खिलाड़ियों को जमीनी स्तर आक्रामक और एक्टिव रहने के लिए सही तकनीक सिखाई जाएगी, लेकिन एक अच्छे फिटनेस स्तर के बिना खिलाड़ी हमेशा सीमित रहेंगे अर्थात खिलाड़ी एक निश्चित समय तक और एक निश्चित स्तर तक ही अच्छा खेल सकता है, उसकी  सीमाएं निश्चित होंगी और वह एक उच्च लेवल को प्राप्त नहीं कर पाएगा। 

प्रशिक्षण परिणामों को अधिकतम करने के लिए टेनिस प्रशिक्षण और फिटनेस को एक साथ किया जाना चाहिए। हर स्तर पर फिटनेस प्रशिक्षण को शामिल करने की आवश्यकता है। शुरुआती और युवा खिलाड़ियों के लिए, फिटनेस प्रशिक्षण ज्यादातर समन्वय और संतुलन अभ्यास होगा जो खिलाड़ी को टेनिस कोर्ट पर अधिक कुशल बनाने में मदद करेगा।

इन्हें भी पढ़ें : एक प्रोफेशनल फिटनेस ट्रेनर किराए पर लेने का महत्व
इन्हें भी पढ़ें : एक फिटनेस एप्प के क्या फायदे होते हैं
इन्हें भी पढ़ें : व्यस्त जीवन शैली में फिटनेस की 3 टिप्स
इन्हें भी पढ़ें : फिटनेस के 4 तत्व

जब एक खिलाड़ी अपनी फिटनेस के उच्चतम स्तर पर पहुंच जाता है, और उसके अंदर चपलता प्रचुर मात्रा में उत्पन्न हो जाती है, इस वजह से वह आवश्यकता पड़ने पर सही तरह से फील्ड में गतिमान हो पाएगा और अपने लक्ष्य को प्राप्त करेगा. एक अच्छा टेनिस खिलाड़ी होने के लिए खिलाड़ी में चपलता और गति की अत्यधिक आवश्यकता होती है। वास्तव में एक अच्छी फिटनेस वाला खिलाड़ी अपने फुटवर्क, तकनीक और अपनी तीव्रता पर ही ध्यान केंद्रित कर सकता है। अपनी इस कुशलता का प्रयोग वह टेनिस ड्रिल के दौरान अच्छे से करेगा और अपने स्ट्रोक को निष्पादित करते समय अधिक कुशल रहेगा । 

किसी भी टेनिस खिलाड़ी को अपनी शक्ति को बढ़ाने के लिए फिटनेस प्रशिक्षण बहुत ज्यादा जरूरी होता है, किसी भी स्तर पर  अधिक चोटो को रोकने के लिए यह महत्वपूर्ण है। स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से खिलाड़ियों को कोर्ट पर अधिक शक्तिशाली और विस्फोटक बनने में मदद मिलेगी जो समान स्तर के अन्य खिलाड़ियों के साथ बहुत बड़ा अंतर बना सकता है। 

किसी भी टेनिस प्लेयर को फिटनेस एक्टिविटी को अपनी दिनचर्या में शामिल करना होगा इससे उन्हें अधिक ताकत मिलेगी और टेनिस कोर्ट पर अधिक शक्तिशाली तरीके से वह शॉट खेल पाएंगे। अगर टेनिस प्लेयर अपने प्रतिद्वंदी की अच्छी ताकत के साथ तालमेल रखना चाहते हैं तो उन्हें लगातार फिटनेस ट्रेनिंग पर ध्यान देना होगा। 

टेनिस प्रशिक्षण और फिटनेस दोनों खिलाड़ी की एरोबिक क्षमता पर काम करते हैं। विशिष्ट कार्डियो प्रशिक्षण से खिलाड़ियों को अपने धीरज को और भी बेहतर बनाने में मदद मिलेगी, और यह उन्हें मैच की प्रत्येक स्थिति में बेहतर बनाएगा। एक अच्छी एरोबिक क्षमता खिलाड़ियों को पूरे मैच के दौरान अधिक चप्पल और मजबूत बनाए रखती है।

फ्लैक्सिबिलिटी ट्रेनिंग फिटनेस का एक और महत्वपूर्ण हिस्सा है, रोजाना अपने मैच की प्रैक्टिस के बाद फ्लैक्सिबिलिटी ट्रेनिंग के लिए समय जरूर देना चाहिए। इससे खिलाड़ी का शरीर लचीला बना रहता है, और मैच के दौरान वह कठिन से कठिन स्थिति में केंद्र तक पहुंचने की क्षमता रख सकता है, और मैच के दौरान लगने वाली चोटों में भी इस वजह से काफी कमी आती है।

फिटनेस प्रशिक्षण का मतलब उन सभी क्षमताओं, शक्ति, चपलता, एरोबिक, लचीलेपन का प्रशिक्षण है। यह सब एक टेनिस प्रशिक्षण कार्यक्रम का हिस्सा होना चाहिए और इसे लगातार करते रहने की आवश्यकता है। एक उच्च-स्तरीय फिटनेस प्रशिक्षण में सप्ताह के दौरान कुल अभ्यास समय का कम से कम 1/3 प्रसमय फिटनेस को देना चाहिए। खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में रहने के दौरान फिटनेस प्रशिक्षण को बनाए रखने की आवश्यकता होती है।

Related posts

Leave a Comment