बेस्ट 12 योगा मैट 2020-2021
Hindi

Review : बेस्ट 12 योगा मैट 2020-2021

आज हम आपके लिए बेस्ट क्वालिटी योगा मैट रिव्यू लेकर आए हैं. एक आदर्श और अच्छी क्वालिटी की योगा मैट योगा करते समय आपको आरामदायक महसूस होती है जिसके कारण आपके जोड़ों में बिल्कुल भी प्रेशर अर्थात तनाव महसूस नहीं होता है

अगर आप एक योगा मैट पर धनुरासन, चक्रासन या अन्य सभी बैठकर किए जाने वाले आसन करते हैं और आपको बेहतर स्थिरता संतुलन और आराम मिलता है तो यह एक बेस्ट क्वालिटी योगा मैट के लक्षण हैं. कुछ योगा मैट आपके योगा करते समय निकलने वाले पसीने को भी अवशोषित करने की क्षमता रखते हैं यह और एक अच्छी बात योगा मैट के अंदर आजकल नजर आती है.

एक अच्छी योगा मैट को खरीदते समय आपको कुछ बातों का ध्यान देना आवश्यक होता है अगर इन गुणों में योगा मैट खरी उतरती है तो वह एक टॉप क्वालिटी योगा मैट कहलाती है.

योगा मैट सामग्री :

आजकल योगा में कई प्रकार की क्वालिटी और कई प्रकार के मैट्रियल में आ रहे हैं. इसके अंदर मुख्य रूप से टीपीई, पीवीसी, कॉटन, जूट, रबर और फोम  की योगा मैट आपको नजर आएंगे. अन्य सभी प्रकार की योगा मैट की तुलना में पीवीसी मेटेरियल से बनी योगा मैट आपको बेहतर पकड़ और स्थिरता प्रदान करने का कार्य करती है, लेकिन यह नेचुरल वातावरण के अनुरूप नहीं होती है.

इन्हें भी पढ़ें : योग के जनक – हिरण्यगर्भ
इन्हें भी पढ़ें : योगा टीचर के लिए 10 जरूरी बातें
इन्हें भी पढ़ें : एक कुंडलिनी योग शिक्षक की शपथ
इन्हें भी पढ़ें : प्राकृतिक योग चटाई के फायदे और नुकसान

योगा मैट की मोटाई :

किसी भी योगा मैट की मोटाई सीधे-सीधे आपके शरीर पर पड़ने वाले प्रेशर ओ संभालने का कार्य करती है. इसका सीधा-सीधा मतलब आपके शरीर के आराम से होता है. इसलिए उचित मोटाई की योगा मैट ही आपको खरीदनी चाहिए.

कोई भी योगा मैट 2 एमएम से लेकर 6 एमएम तक की मोटाई में आपको प्राप्त होती है.

 2 एमएम मोटाई की योगा मैट आपको अच्छा संतुलन देने का कार्य करती है. अगर आपको किसी भी प्रकार से घुटनो की प्रॉब्लम नहीं है और आप हल्के फुल्के सामान्य आसन करना चाह रहे हैं तो 2 एमएम की योगा मैट आपके लिए ठीक रहेगी यह हल्की होगी और कैरी करने में भी आसान रहेगी.

 4 एमएम की योगा मैट कई प्रकार की आसनों में आपको स्थायित्व प्रदान करने का कार्य करती है. अगर आप मिडल एज के व्यक्ति हैं या फिर आप अधिक टिपिकल आसन करना चाह रहे हैं तो इस स्थिति में 4 एमएम मोटी योगा मैट आपके लिए उचित रहेगी.  यह आपको आवश्यक स्थायित्व प्रदान करेगी. साथ ही साथ जमीन से पड़ने वाले प्रेशर को भी आपके शरीर के ऊपर नहीं आने देगी.

जिन लोगों को घुटनों की प्रॉब्लम होती है उनके लिए 6 एमएम की योगा मैट की आवश्यकता होती है. अधिक मोटी योगा  मैट घुटनों पर या किसी भी कमजोर अंग पर जमीन से आने वाले प्रेशर को बिल्कुल कम कर देती है, और व्यक्ति आराम से योगा कर सकता है.

योगा मैट साइज:

भारत के अंदर स्टैंडर्ड योगा साइज 6 x 2 फीट माना जाता है, लेकिन यह सभी व्यक्तियों के लिए उचित हो यह जरूरी नहीं है.  कुछ व्यक्तियों के लिए यह कम पड़ जाता है. ऐसे में आप अधिक बड़ी योगा मैट का इस्तेमाल कर सकते हैं. उसकी उपलब्धता भी आपको होती है.

योगा मैट खरीदते समय आपको काफी प्रकार की मेजरमेंट का ध्यान रखते हुए आवश्यकताओं का ध्यान रखते हुए अपने लिए सबसे अधिक उत्तम योगा मैट को खरीदना चाहिए।

सभी आवश्यक दिशा निर्देशों को ध्यान में रखते हुए कुछ बेस्ट क्वालिटी की योगा मैट आपके सामने प्रदर्शित हैं आप इनमें से अपनी पसंदीदा और अपनी आवश्यकताओं को पूरा करती हुई, योगा मैट खरीद सकते हैं.

 

Related posts

Leave a Comment