योगा - Yog

एक कुंडलिनी योग शिक्षक की शपथ

“एक कुंडलिनी योग शिक्षक की शपथ:” मैं एक महिला नहीं हूं। मैं एक आदमी नहीं हूँ। मैं कोई व्यक्ति नहीं हूं। मैं खुद नहीं हूं। मैं एक शिक्षक हूं। “ कई बार बहुत से लोग इस शपथ के साथ काफी संघर्ष करते हुए नजर आते हैं। वह समझ नहीं पाते हैं, कि यह क्या है, यह क्या कह रहे हैं। आपका क्या मतलब है कि मैं एक महिला/पुरुष नहीं हूं? अगर मैं एक व्यक्ति नहीं हूं तो मैं क्या हूं? और अगर मैं खुद नहीं हूं, तो मैं कौन हूं?…

Read More